• 425
    Shares

अपराजित और बेखौफ खेल रहीं भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप का खिताब जीतने का लक्ष्य लेकर आज मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगी। प्रसिद्ध पॉप गायक कैटी पेरी फाइनल से पूर्व यहां मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर करीब 75,000 से अधिक प्रशंसकों का मनोरंजन करने के लिए तैयार है।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार टी-20 विश्व कप टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची है और खिताब के लिए उसका सामना एक ऐसी टीम से होने जा रहा है जो चार बार चैंपियन रह चुकी हैं और साथ ही 2009 में सेमीफाइनलिस्ट और 2016 में उपविजेता भी रह चुकी हैं।

भारतीय टीम इससे पहले तक अब तक तीन बार 2009, 2010 और 2018 में सेमीफाइनल में पहुंची थी। वर्ल्ड नंबर-1 ऑस्ट्रेलिया ने विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर पर काबिज भारतीय टीम से 31 मैचों में 26 मैच जीते हैं। हाल के समय में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छी शुरुआत की है और उसने टी-20 विश्व कप 2020 संस्करण के पहले मैच में ही ऑस्ट्रेलिया को 17 रनों से मात दे चुकी है।

फाइनल में अब टॉस एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। भारत को ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ एक मुश्किल लक्ष्य निर्धारित करना होगा। टूर्नामेंट में भारतीय युवा खिलाड़ी बहुत अच्छी स्थिति में हैं, लेकिन सीनियर्स में कप्तान हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना को बड़ी जिम्मेदारी लेनी होगी।

कप्तान हरमनप्रीत फाइनल वाले दिन 31 साल की हो जाएंगी और वे निश्चित रूप से अपने 31 वें जन्मदिन को यादगार बनाना चाहेंगी। भारत के लिए पावर प्ले एक मिश्रित बैग रहा है। केवल एक बार भारत 50 रन की बाधा पार करने में सफल रहा है।

मेलबर्न में तीन दिनों के ब्रेक और परिवार के सदस्यों की उपस्थिति विशेष रूप से जेमिमाह रोड्रिगेज, शेफाली वर्मा और हरमनप्रीत के लिए मनोबल बढ़ाने वाली है। दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलियाई टीम गेंदबाजी आक्रमण में बहुत सटीक है। एलीस पेरी मैच से बाहर हैं लेकिन मेगन शट्ट, पूनम यादव के साथ 9 विकेट के साथ तालिका में शीर्ष पर हैं, जिसमें भारतीय टीम के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को पछाड़ने की क्षमता है।

इसके अलावा जेस जोनासेन अतिरिक्त खतरा पैदा करेंगी। बेथ मूनी अपने करियर की बेस्ट फॉर्म में हैं और एलिसा हीली के साथ संयुक्त रूप से बल्लेबाजी विभाग में तीसरे स्थान पर हैं। हरमनप्रीत की कप्तानी वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम 2009 के वनडे विश्व कप से प्रेरणा ले सकते हैं जब विकेटकीपर अनघा देशपांडे ने सात चौके जड़कर पहली बार आस्ट्रेलियाई मानसिकता को हिला दिया था। उस मैच में अंजुम चोपड़ा ने 76 रनों की पारी खेलकर टीम को 16 रनों से मैच जिताने में अहम योगदान दिया था।

हालांकि, आस्ट्रेलियाई टीम बड़े मैच के दबाव से निपटने में काफी माहिर है। लेकिन भारत भी पहले मैच की जीत से आत्मविश्वास से लबरेज होगा।

संभावित टीमें:

भारत: हरमनप्रीत कौर (कप्तान), तानिया भाटिया, हर्लिन देयोल, राजेश्वरी गायाकवाड़, ऋचा घोष, वेदा कृष्णामूर्ति, स्मृति मंधाना, शिखा पांडे, पूनम यादव, अरुंधती रेड्डी, जेम्मिहा रोड्रिगेज, शेफाली वर्मा, दीप्ति शर्मा, पूजा वास्त्राकर, राधा यादव।

ऑस्ट्रेलिया: मेग लेनिंग (कप्तान), रचेल हायेनेस, इरिन बर्न्‍स, निकोला कैरी, एश्ले गार्डनर, एलिसा हिली, जेस जोनासन, डेलिसा किममिंसे, सोफी मोलिनेयुक्स, बेथ मूनी, मेगन शट, मोली स्ट्रानो, एनाबेल सदरलैंड, जॉर्जिया वारेहैम, मॉली स्ट्रानो।

ورق تازہ نیوز اب ٹیلی گرام پر بھی دستیاب ہے۔ ہمارے چینل کو جوائن کرنے کے لئے یہاں کلک کریں  https://t.me/waraquetazaonlineاور تازہ ترین خبروں سے اپ ڈیٹ رہیں۔ 


اپنی رائے یہاں لکھیں