Waraqu E Taza Online
Nanded Urdu News Portal - ناندیڑ اردو نیوز پورٹل

इरफान पठान ने गांगुली- द्रविड़ के बीच तुलना करके जीता सबका दिल,देखिए क्या कहा ?

नई दिल्ली: क्रिकेट दुनिया से सन्यास लेने के बाद भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान ने कहा कि उनके लिए इंटरनेशनल क्रिकेट का सफर शानदार और संतोषप्रद रहा।

इरफान ने यह भी कहा कि वह आज जो कुछ भी हैं, उसका श्रेय क्रिकेट को देना चाहते हैं। साथ ही इरफान ने अपने दो पूर्व कप्तानों-सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ के योगदान को भी याद किया और कहा कि गांगुली ने जहां उनके अंदर भरोसा जगाया वहीं द्रविड़ ने उन्हें अधिक से अधिक मौके दिए।

35 साल के पठान ने भारत के लिए सभी फारमेट्स में कुल 173 मैच खेले और 2821 रन बनाए। पठान ने भारत के लिए 29 टेस्ट, 120 वनडे और 24 टी-20 मैच खेले हैं। इरफान ने 2004 में पाकिस्तान दौरे से सुर्खियां बटोरी थीं। इरफान ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “मेरे लिए यह यात्रा शानदार और संतोषप्रद रही है। आप हमेशा बेहतर करना चाहते हैं। आप हमेशा अधिक मौके चाहते हैं। आप हमेशा खेल के हर प्रारूप में देश के लिए कुछ करना चाहते हैं लेकिन आप हर बार सफल नहीं हो सकते।”

अपने दो पूर्व कप्तानों-गांगुली और द्रविड़ की देखरेख में सबसे अधिक इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले इरफान इन दोनों को अलग तरीके से याद करते हैं। इरफान ने कहा, “इन दोनों के बीच तुलना अच्छा नहीं होगा। हर कोई जानता है कि जब गांगुली भारतीय टीम के कप्तान बने थे, तब हालात काफी कठिन थे। उन्होंने जिस तरह टीम को मैनेज किया वह शानदार है।

गांगुली ने मुझे खुद पर भरोसा करना सिखाया और जहां तक द्रविड़ की बात है तो वह कई मामलो में शानदार कप्तान थे। उन्होंने सीनियर्स और जूनियर्स को शानदार तरीके से मैनेज किया। युवाओं को वह अधिक मौका देते थे और मेरे साथ भी यही हुआ। उनकी कप्तानी में मुझे टॉप में बैटिंग का मौका मिला और फिर नई गेंद से गेंदबाजी करने का भी मौका मिला।

This post appeared first on The Inquilaab http://theinquilaab.com/ POST LINK Source Syndicated Feed from The Inquilaab http://theinquilaab.com Original Link- Source