अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: कोरोना वायरस का भारत में असर, कई उद्योग प्रभावित, सिसोदिया ने केंद्र से मांगा करो में हिस्सा


मनीष सिसोदिया ने भारत सरकार से की केंद्रीय करो में हिस्सेदारी की मांग

केजरीवाल सरकार में वित्तमंत्री व दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान सिसोदिया ने दिल्ली नगर निगम के लिए फंड की आवश्यकता और केंद्रीय करो में हिस्सेदारी जैसे मुद्दे वित्तमंत्री के सामने रखे । दिल्ली में एक बार फिर आम आदमी पार्टी(आप) की सरकार बनने के बाद दिल्ली सरकार और केंद्रीय वित्त मंत्रालय के बीच यह पहली बैठक है।

फोटो: सोशल मीडिया

कोरोना वायरस का भारत में असर, कई उद्योग प्रभावित

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते भारत से चीन को रूई और धागे का निर्यात ठप पड़ गया है और कपड़ा उद्योग में इस्तेमाल होने वाला रासायनिक पदार्थ व एसेसरीज आइटम का आयात नहीं हो रहा है, जिससे घरेलू कपड़ा उद्योग पर असर पड़ा है। कारोबारी बताते हैं कि चीन से केमिकल्स और एसेसरीज आइटम का आयात नहीं होने से घरेलू कपड़ा उद्योग की लागत बढ़ गई है, जिससे आने वाले दिनों कपड़ा महंगा हो सकता है। कान्फेडरेशन ऑफ इंडियन टेक्सटाइल इंडस्ट्री (सीआईटीआई) के पूर्व अध्यक्ष संजय जैन ने आईएएनएस को बताया कि घरेलू कपड़ा उद्योग के प्रोसेसिंग खर्च में 10 फीसदी का इजाफा हो जाएगा जिससे आने वाले दिनों के कपड़े का दाम बढ़ जाएगा।

♨️Join Our Whatsapp 🪀 Group For Latest News on WhatsApp 🪀 ➡️Click here to Join♨️

फोटो: सोशल मीडिया

सीओवीआईडी-19 का प्रकोप लंबे समय तक भारतीय उद्योग पर डालेगा असर

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने कहा कि घातक कोरोनावायरस (सीओवीआईडी-19) के लंबे समय तक प्रकोप का असर भारतीय उद्योग पर पड़ेगा, जिसे गंभीर बाधाओं का सामना करना पड़ेगा। क्रिसिल ने एक रिपोर्ट में कहा कि सीओवीआईडी-19 का इस वित्तीय वर्ष की चौथी तिमाही में इंडिया इंक के सेक्टरों में मिला-जुला असर रहेगा।रिपोर्ट में जिक्र किया गया कि सेक्टर जैसे ऑटो कंपोनेंट्स, फार्मा बल्क ड्रग्स व एग्रो केमिकल्स कुछ हद तक सीओवीआईडी-19 का सामना कर सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया, "हालांकि, इनवेंट्ररीज के ठहरने से उद्योग पर खासा दबाव पड़ेगा।”

फोटो: सोशल मीडिया

चीन में 52 फीसदी कारोबार हुआ बहाल

चीन में महामारी की रोकथाम में सकारात्मक प्रगति हासिल करने के साथ कारोबारों की बहाली को भी जोर शोर से बढ़ाया गया है। नींगशा, ल्याओनींग और क्वेईचौ आदि राज्यों ने कारोबारों की बहाली को बढ़ाने के लिए जोरदार कदम उठाए हैं। अभी तक 52 प्रतिशत कारोबारों की बहाली की गई है और महामारी रोधी सामग्रियों का उत्पादन पूरी तरह से बहाल किया गया है। नींगशा प्रदेश ने छोटे और मझोले कारोबारों की बहाली को बढ़ाने के लिए 18 कदम उठाए हैं जिनमें कर कटौती, पानी, बिजली और नेटवर्क शुल्क के भुगतान में स्थगन और अधिक वित्तीय सहायता जैसी बातें शामिल हैं। उधर ल्याओनींग प्रांत ने प्रमुख कारोबारों को वित्तीय गारंटी प्रदान की है और बैंकों ने भी इन कारोबारों के लिए त्वरित अनुमोदन चैनल स्थापित किए हैं।

یہ بھی پڑھیں:  सुषमा स्वराज महिलाओं के लिए एक चैंपियन थीं: इवांका ट्रम्प
फोटो: सोशल मीडिया

महाशिवरात्रि के अवसर पर बंद रहा शेयर बाजार

महाशिवरात्रि के अवसर पर शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार, बांड बाजार और फॉरेक्स बाजार बंद हैं। प्रमुख शेयर बाजार बीएसई और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) सामान्य कारोबार के लिए सोमवार को खुलेंगे। गुरुवार को समाप्त चार सत्रों के संक्षिप्त कारोबारी सप्ताह में सेंसेक्स में 86.62 अंकों की और निफ्टी में 32.65 अंकों की गिरावट रही। गुरुवार को सेंसेक्स 152.88 अंकों की गिरावट के साथ 41,170.12 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 45.05 अंकों की गिरावट के साथ 12,080.85 पर बंद हुआ था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

WARAQU-E-TAZA ONLINE

I am Editor of Urdu Daily Waraqu-E-Taza Nanded Maharashtra Having Experience of more than 20 years in journalism and news reporting. You can contact me via e-mail waraquetazadaily@yahoo.co.in or use facebook button to follow me

جواب دیں

آپ کا ای میل ایڈریس شائع نہیں کیا جائے گا۔